[e-Dharti] अपना खाता राजस्थान: खसरा जमाबंदी नकल,भु नक्शा

Apna Khata e Dharti Rajasthan | खसरा नंबर | नकल जमाबंदी | Rajasthan BhuNaksha | अपना खाता राजस्थान भूलेख

इस पोस्ट में हम आपको राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किए गए राजस्थान e Dharti पोर्टल के बारे में सभी जानकारियां देने की कोशिश करेंगे । इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप सभी को महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे कि जमाबंदी नकल, खसरा नंबर, खतौनी, आदि के बारे में बताएंगे ।

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि भारतीय सरकार डिजिटल इंडिया योजना के तहत सभी प्रकार की सरकारी योजनाओं को डिजिटल रूप में लागू करने का काम कर रही है । डिजिटल इंडिया मुहिम के तहत ही भूमि रिकॉर्ड (खेत का नक्शा) का भी डिजिटलीकरण करने का काम किया जा रहा है ।

Read Apna Khata e dharti article in English

भूमि रिकॉर्ड का डिजिटलीकरण करने के उद्देश्य से डिजिटल इंडिया भूमि अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम शुरू किया गया है ।

अलग-अलग राज्यों ने डिजिटल इंडिया भूमि अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम के तहत अपने राज्यों में कई योजनाओं का आरंभ किया है । इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए राजस्थान सरकार ने भी apna khata rajasthan – e Dharti नाम से एक पोर्टल का आरंभ किया है ।

अपना खाता राजस्थान योजना क्या है?

अपना खाता योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई है जिसके माध्यम से भू अभिलेखों का डिजिटलीकरण करना एवं सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे कि खसरा नंबर, भूमि नक्शा, जमाबंदी नकल, राजस्थान भूलेख आदि को ऑनलाइन उपलब्ध कराना है। भूमि रिकॉर्ड ऑनलाइन होने की वजह से भूमि की जानकारी, भूमि मालिक की जानकारी इत्यादि को सभी राजस्थान के निवासी देख सकते हैं ।

अपना खाता राजस्थान होम पेज

पारदर्शिता का माहौल बनाने के लिए सरकार का यह कदम सराहनीय है ।

अपना खाता पोर्टल (e Dharti) का आरंभ  डिजिटल इंडिया भूमि अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम (डीआईएलआरएमपी) Digital India Land Records Modernization Programme (DILRMP) के तहत किया गया है जो कि भूमि संसाधन विभाग (Department of Land Resources) के अंतर्गत आता है।

पहले भूमि सुधार प्रभाग, भूमि अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण (CLR) और राजस्व प्रशासन का सुदृढ़ीकरण एवं भूमि अभिलेखों का अद्यतनीकरण (SRA & ULR) नामक दो केन्द्रीय प्रायोजित स्कीमों का कार्यान्वयन कर रहा था।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 21.08.2008 मैं Computerisation of Land Records (CLR) & Strengthening of Revenue Administration and Updating of Land Records (SRA&ULR) दोनों स्कीमों को डिजिटल इंडिया भूमि अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम (DILRMP) नामक एक संशोधित स्कीम में मिला दिया है।

पोर्टल का उद्देश्य

राजस्थान सरकार के e dharti पोर्टल का उद्देश्य सभी लोगों को अपने खेत का नक्शा की संपूर्ण जानकारी डिजिटल रूप में देना है । अपना खाता पोर्टल के माध्यम से सभी राजस्थान के निवासी घर बैठे ही अपनी जमीन के बारे में सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।

भूमि अभिलेखों का कम्प्यूटरीकरण करने का कार्य भी इस योजना के माध्यम से शुरू किया गया है । राजस्थान भूलेख से जुड़े हुए सभी विभागों को एक दूसरे से जोड़ा जा रहा है ताकि सभी जानकारियां ऑनलाइन उपलब्ध कराई जा सके । इसके आलावा कैडस्ट्रल मानचित्रों के डिजिटलीकरण का कार्य भी जल्दी ही पूरा किया जायेगा।

इस योजना के तहत सभी जिलों में नीचे दिए गए कार्य जल्द ही पूरे किए जाएंगे ।

  • (क) भूमि अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण
  • (ख) सर्वेक्षण/पूनर्सर्वेक्षण
  • (ग) रजिस्ट्रीकरण का कंप्यूटरीकरण 

पोर्टल के लाभ

  • भू अभिलेखों का डिजिटलीकरण होने से राजस्थान के निवासियों को सभी जानकारियां ऑनलाइन उपलब्ध हो गई है ।
  • अब सभी निवासी अपने मोबाइल के माध्यम से ही अपनी भूमि से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।
  • अब भूमि मालिकों को तहसील या अन्य किसी कार्यालयों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं होगी ।
  • डिजिटलीकरण होने की वजह से भू अभिलेखों से संबंधित सभी तरह के कार्य अब पहले की तुलना में जल्दी हो जाते हैं और इससे समय की भी काफी बचत होती है।
  • भू अभिलेखों का डिजिटलीकरण करने से राजस्थान के सभी निवासी लाभान्वित हुए हैं ।

यह भी जांचें,

पोर्टल सारांश

सारांशसारांश
पोर्टल का नामई धरती
अन्य नामअपना खाता
चालू करने वाली संस्थाराजस्थान सरकार
योजना का उद्देश्यभू अभिलेखों का डिजिटलीकरण करना
लाभार्थीराजस्थान के निवासी
अधिकारिक वेबसाइटapnakhata.raj.nic.in

जमाबंदी नकल/ नामांतरण की प्रतिलिपि ऑनलाइन प्राप्त करने की प्रक्रिया

अपना खता पोर्टल के माध्यम से राजस्थान सर्कार ने जमाबंदी एवं नामांतरण प्रतिलिपि डाउनलोड करने की सुविधा पोर्टल पर प्रदान की है। सुविधा का राजस्थान के सभी निवासी उपयोग कर सकते है।

जमाबंदी नकल ऑनलाइन देखने के लिए सभी निवासी नीचे दी गई जानकारी का उपयोग कर सकते हैं ।

1 #: सबसे पहले आपको अधिकारीक वेबसाइट http://apnakhata.raj.nic.in/ पर जाना होगा । अधिकारिक वेबसाइट पर आपको दाईं तरफ राजस्थान का नक्शा एवं जिला चुनने का ऑप्शन दिखाई देगा ।

अपना खाता राजस्थान जिला चुनें

2 #: इस पेज पर अपने जिले का चयन करें । जिले का चयन मेनू से कर सकते है या फिर आप नक़्शे में अपने जिले पर क्लिक कर सकते है। जिला चुनने के बाद एक पेज दिखाई देगा जहां आपको तहसील का चयन करना होगा (जैसा की नीचे दिखाया गया है)।

अपना खाता राजस्थान तहसील चुनें

तहसील पेज पर बायीं और दिए गए तहसील लिंक में से अपनी तहसील करे अथवा दायी तरफ मैप में तहसील पर क्लिक करे।

3 #: तहसील का चयन करने के बाद एक नया पेज खुलेगा जहां आपको अपने गांव का चयन करना होगा |

उदाहरण के लिए हमने सीकर जिले की फतेहपुर तहसील पर क्लिक किया है तो हमें नीचे लिखी हुई जानकारी प्राप्त हुई है।

  • जिला :-सीकर
  • तहसील :- फतेहपुर
  • गाँव का प्रथम अक्षर चुनें
  • जमाबन्दी वर्ष
  • गत, चालू – सही विकल्प चुने
अपना खाता राजस्थान गाँव चुनें

अब दाई तरफ अपने गांव के नाम के पहले अक्षर पर क्लिक करे। इससे उस अक्षर से शुरू होने वाले गांव की सूचि बायीं तरफ आ जाएगी। जमाबंदी / नामांतरण की प्रतिलिपि प्राप्त करने हेतु इस बायीं तरफ की सूचि मे क्लिक करके अपना गाँव चुनें |

4 #: क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा जहाँ पर आपको उस गांव से सम्बंधित जमाबंदी / नामांतरण प्रतिलिपि प्राप्त करने के लिए एक ऑनलाइन फॉर्म दिखाई देगा।

अपना खाता राजस्थान अठवास - अठवास - उदनसर गाँव

इस फोन में आपको नीचे लिखी हुई आवेदक से संबंधित जानकारियां भरनी होगी ।

  • आवेदक का नाम
  • आवेदक का शहर
  • आवेदक का पता
  • आवेदक का पिन कोड

जानकारियों को भरने के बाद नीचे आपको दो विकल्प दिखाई देंगे ।

  • जमाबंदी की प्रतिलिपि
  • नामांतरण की प्रतिलिपि

जमाबंदी की प्रतिलिपि: जमाबंदी की प्रतिलिपि ऑप्शन का चयन करें । नीचे आपको कुछ विकल्प दिखाई देंगे ।

अपना खाता राजस्थान जमाबंदी प्रतिलिपि विकल्प
  • खाता से
  • खसरा से
  • नाम से
  • USN से
  • GRN से

किसी एक विकल्प का चयन करें एवं दाएं तरफ उस विकल्प से संबंधित संख्या भरे । उसके बाद नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें । जमाबंदी की प्रतिलिपि कंप्यूटर की स्क्रीन पर दिखाई देगी ।

राजस्थान जमाबंदी प्रतिलिपि नमूना

नामांतरण की प्रतिलिपि: नामांतरण की प्रतिलिपि ऑप्शन का चयन करें एवं दाएं तरफ नामांतरण संख्या सुनने के बाद दिए गए बॉक्स में चयनित नामांतरण संख्या डालें और नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें ।

ई धरती राजस्थान नामांतरण की प्रतिलिपि ऑप्शन

प्रतिलिपि शुल्क

क्र.सं.अभिलेख का नामपरिमाणशुल्क
1जमाबंदी प्रतिलिपि10 खसरा नं. तक
प्रत्येक अतिरिक्त 10 खसरा नं. या उसके भाग के लिये
10.00 रू.
5.00 रू.
2नक्शा प्रतिलिपिप्रत्येक 10 खसरा नं. या उसके भाग के लिये20.00 रू.
3नामांतरण पी21प्रत्येक नामांतरण के लिये20.00 रू.

नामांतरण के लिये आवेदन कैसे करें?

नामांतरण के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है । ई धरती पोर्टल पर नामांतरण सिर्फ हिंदी भाषा में ही किया जा सकता है । नामांतरण करने की प्रक्रिया नीचे दी गई है ।

चरण 1: सबसे पहले आपको अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

चरण 2: आधिकारिक वेबसाइट पर टॉप मेनू में “नामांतरण के लिए आवेदन करें” विकल्प का चयन करना होगा ।इस विकल्प का चयन करने के बाद नए पेज पर एक ऑनलाइन फॉर्म आएगा ।

ई धरती राजस्थान नामांतरण के लिये आवेदन

चरण 3: ऑनलाइन फॉर्म में नीचे दी गई जानकारियां हिंदी में टाइप करनी होगी।

  • आवेदक का नाम
  • आवेदक के पिता का नाम
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • आवेदक का पता

चरण 4: इसके बाद जिला, तहसील एवं गांव का चयन करना होगा।

चरण 5: जिला तहसील एवं गांव का चयन करने के बाद नीचे दिए गए विकल्पों में से किसी एक विकल्प को चुनना होगा।

  • बैंक से लिए गए ऋण का नामांतरण दर्ज करने हेतु
  • रहनमुक्त (ऋणमुक्त) का नामांतरण दर्ज करने हेतु
  • विरासत का नामांतरण दर्ज करने हेतु
  • हक त्याग का नामांतरण दर्ज करने हेतु
  • उपहार का नामांतरण दर्ज करने हेतु
  • नाबालिग से बालिग का नामांतरण दर्ज करने हेतु

चरण 6: किसी एक विकल्प को चुनने के बाद नामांतरण खोलने के लिए आवश्यक संलग्न दस्तावेज़ की सूची दाएं तरफ आ जाएगी। इसके बाद “आगे चले” बटन पर क्लिक करें और बाकी प्रक्रिया को पूरा करें।

चरण 7: इसके बाद आप से पूछा जाएगा, क्या आपको खाता संख्या की जानकारी है ? यदि हाँ तो खाता संख्या चुने यदि नहीं तो आपसे आपका खसरा संख्या पूछा जायेगा।

नामांतरण के लिए खाता संख्या अथवा खसरा संख्या चुने पृष्ठ

Note: अगर आपको खाता संख्या तथा खसरा संख्या दोनों ही नहीं पता है तो आप आवेदन नहीं कर पायेंगे।

कोई भी एक विकल्प चुनकर खाता संख्या या खसरा संख्या चुनने के बाद आगे चले बटन को दबाये।

चरण 8: इसके बाद आगे की जानकारी भरकर Send OTP बटन को दबाये। आपके मोबाइल पर एक sms आएगा। अब इस OTP को दी गयी जगह पर भरे तथा जरुरी दस्तावेज अपलोड करे।

Note: कृपया ध्यान दें की सभी दस्तावेज पीडीएफ फाइल में होनी चाहिए एक से ज्यादा पीडीएफ फाइल होने पर उन्हें एक ही पी.डी.एफ. फाईल में सम्मिलित करके तैयार रखें। ये भी ध्यान रखे की पीडीऍफ़ फाइल में प्रत्येक पेज की साइज 150kb से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

चरण 9: इसके बाद सुरक्षित करे बटन पर क्लिक करे। आपका आवेदन सफलतापूर्वक ले लिया गया है।

नामांतरण खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची:

नामांतरण के लिए नीचे दिये गये दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी।

नामांतरण का आवेदनआवश्यक दस्तावेज़
बैंक से लिए गए ऋण का नामांतरण दर्ज करने हेतु1-पंजीकृत रहन पत्र
2-गैर पंजीकृत रहन पत्र
रहनमुक्त (ऋणमुक्त) का नामांतरण दर्ज करने हेतुमूल रहनमूक्त पत्र
विरासत का नामांतरण दर्ज करने हेतु1-मृत्यु प्रमाण पत्र
2-प्रमाणित वारिस सजरा
हक त्याग का नामांतरण दर्ज करने हेतुपंजीकृत हक़त्याग पत्र
उपहार का नामांतरण दर्ज करने हेतुपंजीकृत उपहार पत्र
नाबालिग से बालिग का नामांतरण दर्ज करने हेतु1-तहसीलदार या उच्चाधिकारी का नाबालिक से बालिग दर्ज करने का आदेश
2-आयु के प्रमाण स्वरूप फोटो पहचान पत्र की प्रति

नामांतरण की स्थिति कैसे देखें ?

नामांतरण की स्थिति ऑनलाइन ई धरती पोर्टल के माध्यम से देखी जा सकती है । पोर्टल पर जिले के अनुसार नामांतरण की स्थिति दी गई है । स्थिति देखने की प्रक्रिया नीचे दी गई है ।

चरण 1: सबसे पहले आपको अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

चरण 2: यहां आपको मेन मैन्यू में “नामांतरण की स्थिति” लिंक पर क्लिक करना होगा।

इस लिंक पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुल जाएगा जहां जिले के अनुसार नामांकन की स्थिति दी गई है।

ई धरती राजस्थान जिले के अनुसार नामांतरण की स्थिति दिनाँक 28 march 2021 तक

आप सभी दी गई जानकारी को आसानी से देख सकते हैं।

ई-मित्र लॉगिन (LOGIN)

ई-मित्र या अधिकृत कियोस्क उपयोगकर्ता धरती पोर्टल पर ऑनलाइन लोगिन कर सकते हैं । इसके लिए प्रक्रिया नीचे दी गई है

चरण 1: सबसे पहले अधिकारिक वेबसाइट खोलें।

चरण 2: अधिकारिक वेबसाइट पर ई-मित्र लॉगिन (LOGIN) का चयन करें । नए पेज पर एक लॉगइन फॉर्म आएगा ।

ई धरती राजस्थान ई-मित्र अधिकृत कियोस्क उपयोगकर्ता लोगिन पेज

चरण 3: लॉगइन फॉर्म में नीचे दी गई जानकारी भरे।

  • उपयोगकर्ता का नाम
  • पासवर्ड
  • सिक्योरिटी कोड

चरण 4: अब लॉगइन बटन पर क्लिक करें। आपने सफलतापूर्वक ईमित्र पोर्टल पर प्रवेश कर लिया है।

NOTE: अगर आपको किसी भी दस्तावेज से संबंधित प्रमाणित प्रतिलिपि चाहिए तो आप कियोस्क सेंटर पर जाकर आवेदन कर सकते हैं वेबसाइट पर उपस्थित दस्तावेजों की प्रतिलिपि प्रमाणित नहीं है ।

राजस्थान भू नक्शा कैसे डाउनलोड कैसे करें?

अगर आप राजस्थान भूमि का नक्शा देखना है वह डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप भू नक्शा आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं । भू नक्शा देखने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन करें ।

Steps to download Rajasthan Bhu Naksha:

चरण 1: सर्वप्रथम राजस्थान भू नक्शा आधिकारिक वेबसाइट bhunaksha.raj.nic.in पर जाएं।

राजस्थान-भू-नक्शा-आधिकारिक-वेबसाइट

चरण 2: राजस्थान भू नक्शा वेबसाइट के होम पेज पर बाई तरफ नीचे दी गई जानकारी के हिसाब से आप नक्शा सर्च कर सकते हैं।

  • डिस्ट्रिक्ट
  • तहसील
  • RI
  • Halkas
  • Village
  • Sheet No.

चरण 3: Sheet No. से संबंधित नक्शा दाएं तरफ दिखाई देगा । एक नक्शे में कई प्लॉट की जानकारी हो सकती है। अगर आप किसी एक प्लॉट पर क्लिक करेंगे तो उस प्लॉट के बारे में और जानकारी दिखाई देगी ।

राजस्थान-भू-नक्शा-वेबसाइट-एक-प्लॉट-की-जानकारी

यहां आपको उस प्लॉट का क्षेत्रफल खाता संख्या ग्राम पंचायत आदि की जानकारी मिलेगी ।

चरण 4: प्लॉट इन्फो के नीचे नकल लिंक पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा जिसमें plot ki खसरा नक्शा एंव जमाबंदी (प्रतिलिपि) की जानकारी होगी ।

राजस्थान-भू-नक्शा-वेबसाइट-एक-प्लॉट-की-खसरा-नक्शा-एंव-जमाबंदीप्रतिलिपि-जानकारी

चरण 5: बाई तरफ “All Plots of same owner” लिंक पर क्लिक करने के बाद एक owner के अन्य प्लॉट का नक्शा दाएं तरफ आ जाएगा ।

इस तरह से आप अपने भूमि का नक्शा आसानी से देख सकते हैं एवं नक्शे से जुड़ी हुई सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।

जमाबंदी नकल पीडीएफ डाउनलोड करें:

आप चाहें तो ऊपर दिए गए पेज से जमीन की जमाबंदी नकल पीडीएफ रिपोर्ट अपने कंप्यूटर में डाउनलोड कर सकते हैं।

चरण 1: आखिरी सेक्शन में बाईं ओर Show Report PDF लिंक पर क्लिक करें। दाईं ओर एक नया पेज दिखाई देगा (जैसा कि नीचे दिखाया गया है)।

राजस्थान जमाबंदी नकल पीडीएफ रिपोर्ट डाउनलोड करें

जैसा कि आप छवि में देख सकते हैं कि ऊपर की तरफ मानचित्र को स्क्रीन पर फिट करने, मानचित्र को घुमाने, डाउनलोड करने और प्रिंट करने के लिए लिंक हैं।

चरण 2: अपने कंप्यूटर या मोबाइल में खसरा नंबर (जमाबंदी नकल) डाउनलोड करने के लिए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें।

आप इसे प्रिंट लिंक का उपयोग करके प्रिंट भी कर सकते हैं।

मोबाइल एप्प डाउनलोड

अगर आप अपना खाता राजस्थान मोबाइल ऐप डाउनलोड करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए चरणों के माध्यम से आप यह काम कर सकते हैं ।

चरण 1: सबसे पहले अपने मोबाइल में गूगल प्ले स्टोर ऐप खोलें।

चरण 2: गूगल प्ले स्टोर एप मैं Apna Khata – Rajasthan सर्च करें।

चरण 3: सर्च करने के बाद आपको मोबाइल एप का लिंक दिखाई देगा । इस लिंक पर क्लिक करें। अब मोबाइल एप का पेज ओपन हो जाएगा ।

Apna-Khata-Rajasthan-app-download

चरण 4: अब आप “इंस्टॉल करें” बटन पर क्लिक करके मोबाइल ऐप डाउनलोड कर सकते हैं ।

राजस्व अधिकारी लोगिन करने की प्रक्रिया

राजस्व अधिकारी अपना खाता पोर्टल पर लॉगिन करके कार्यालय से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य कर सकते हैं । लॉगिन करने की प्रक्रिया नीचे दी गई है ।

चरण 1: सबसे पहले ई धरती अधिकारिक वेबसाइट पर जाएं

चरण 2: यहां आपको दाएं तरफ राजस्व अधिकारी के लोगन करने का लिंक मिलेगा । इस लिंक पर क्लिक करें । क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा

राजस्व-अधिकारी-लॉगिन-पेज

चरण 3: इस लॉगइन फॉर्म में नीचे दी गई जानकारी भरें

  • user name
  • पासवर्ड
  • वेरीफिकेशन कोड

चरण 4: जानकारी भरने के बाद Login बटन पर क्लिक करें

इस तरह से आप आसानी से लॉगइन कर सकते हैं

अगर आप अपना पासवर्ड भूल गए हैं तो फ़ॉरगोट पासवर्ड बटन पर क्लिक करके नया पासवर्ड बना सकते हैं

Contact details

Board of Revenue – Government of Rajasthan

Contact: 91-145-2627620, 2627023, 2627024 2429232(O)

IP Phone No: 28143

E-Mail:  [email protected]

Address: राजस्व मण्डल राजस्थान, टोडरमल मार्ग, सिविल लाईन, अजमेर

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने सभी edharti से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां देने की कोशिश की है । उम्मीद है कि आप सभी को यह आर्टिकल पसंद आया होगा । इस आर्टिकल से संबंधित अगर आप कोई भी सुझाव देना चाहते हैं या कुछ और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे कमेंट सेक्शन के माध्यम से दे सकते हैं ।

सामान्य प्रश्न

अपना खाता नकल कैसे देखें?

पोर्टल के माध्यम से जमाबंदी नकल देखने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है । इसके लिए सबसे पहले आपको ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा । ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के बाद आपको अपना जिला तहसील तथा गांव का चयन करना होगा । इसके बाद आगे की प्रक्रिया पूरी करने के बाद आप अपनी जमाबंदी नकल को देख पाएंगे । इस बारे में पूरी जानकारी हमने अपने आर्टिकल में दी है ।

खसरा नंबर क्या है?

खसरा नंबर एक प्रकार का जमीन की पहचान करने का तरीका होता है । जैसे कि शहरी क्षेत्रों की जमीन या प्लॉट के टुकड़ों के लिए सर्वे नंबर या प्लॉट नंबर का उपयोग किया जाता है वैसे ही गांव की जमीन की पहचान करने के लिए खसरा नंबर दिया जाता है । गांव के एक टुकड़े का एक खसरा नंबर होता है तथा उसके आधार पर अन्य जानकारियां भी प्राप्त की जा सकती है ।

राजस्थान जमीन का खसरा कैसे निकाले?

राजस्थान जमीन का खसरा नंबर निकालने की प्रक्रिया जमाबंदी नकल निकालने की प्रक्रिया के समान ही है । जमाबंदी नकल निकालने के बाद आपको खसरा नंबर की जानकारी भी मिल जाएगी । अधिक जानकारी के लिए आप हमारे आर्टिकल में दी गई खसरा नंबर निकालने की जानकारी को देख सकते हैं ।

समान पात्रता परीक्षा राजस्थान cet

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.